उपायुक्त का सन्देश

"अपने सभी विचारों को काम पर केंद्रित करें; सूर्य की किरणें तब तक नहीं जलाती हैं जब तक कि उन्हें एकाग्र नहीं किया जाता।"
केंद्रीय विद्यालय संगठन, आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, चंडीगढ़ की स्थापना सितम्बर 2009 में हुई| यह केंद्रीय विद्यालय संगठन के 05 आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में से एक है| यह हरियाणा और पंजाब की राजधानी चंडीगढ़ शहर के सैक्टर 33 सी में स्थित है। इसके माध्यम से केन्द्रीय विद्यालय संगठन चंडीगढ़, दिल्ली, देहरादून, जम्मू एवं गुरुग्राम संभाग के अधिकारियों / शिक्षक / गैर शिक्षण स्टाफ के सर्वांगीण व्यक्तित्व विकास हेतु शैक्षिक प्रशिक्षण,सेवाकालीन प्रशिक्षण, कार्यशालाओं, अभिविन्यास कार्यक्रम, सामग्री संवर्धन ‘ प्रवेशन पाठ्यक्रम, अभिवृत्ति निर्माण, कौशल विकास संबंधी प्रशिक्षण कार्य का निष्पादन किया जाता है| के वि सं प्रशिक्षण नीति के परिप्रेक्ष्य में शिक्षकों एवं कर्मचारियों को अभिवृत्ति, कौशल और ज्ञान के क्षेत्र में गुणवत्तापरक प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है जो कि केन्द्रीय विद्यालय संगठन में उनके व्यावसायिक विकास के लिए आवश्यक है, ताकि वे उन छात्रों के विकास में योगदान दे सकें जिनकी देखभाल की जिम्मेदारी उन्हें सौंपी गई है|

केंद्रीय विद्यालय संगठन, आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान चंडीगढ़ अपने मानवीय और रचनात्मक दृष्टिकोण के साथ अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने व शिक्षा समुदाय को सीखने और सिखाने की दृष्टि अपनी पूरी गरिमा के साथ प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है| आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान चंडीगढ़ में प्रशिक्षण संबंधी जरूरतों की पहचान कर उसके अनुभवी संकाय द्वारा एक गतिशील और लचीला शिक्षण समुदाय बनाने के लिए कार्यक्रमों की योजना तैयार की जाती है।

शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम इस विचार पर केंद्रित होते हैं कि वे शिक्षार्थियों की सेवा करने और बच्चे की क्षमता पर विश्वास रखते हुए शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता का अनुसरण करते हुए सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ जीवन में आगे बढ़े |

के वि सं आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान की परिकल्पना, प्रशिक्षण में उत्कृष्टता को केंद्र में रखते हुए कार्य करने की परिपाटी का अनुसरण करते हुए सभी कर्मचारियों की क्षमता के स्तर के अनुरूप तकनीकी उन्मुखीकरण के साथ सीखने के लिए प्रेरक परिवेश उपलब्ध करवाता है | हम गुणवत्तापरक प्रशिक्षण प्रदान करने के लक्ष्य के साथ प्रशिक्षुओं को केंद्रीय विद्यालय संगठन के दक्ष पेशेवर कर्मियों की तरह काम करने की आकांक्षा रखते हैं|

अपनी स्थापना के उपरांत आंचलिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान चंडीगढ़ द्वारा प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण का समुचित माहोल देने के लिए प्रशिक्षण की आधारभूत सुविधाओं में बढ़ोतरी की गई है | संस्थान के पास प्रशिक्षण देने हेतु सभी आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध हैं | प्रशिक्षुओं के आरामदायक आवास हेतु छात्रावास की व्यवस्था भी है |

मुकेश कुमार
निदेशक
जीट चंडीगढ़